बिहार का इतिहास हिंदी में History of Bihar in Hindi- बिहार अपने समृद्ध इतिहास के लिए प्रसिद्ध है। यहां का इतिहास अपने अंदर महान संतों और ज्यानियो की  के कथा  समेटे हुए है। इस जगह का नाम बिहार क्यों है इसका भी एक ऐतिहासिक कारण है ऐसा माना जाता है.

बिहार का इतिहास की important जानकारी History of Bihar in Hindi

जिस जगह पर बौद्ध  के लोग विहार करते थे उस जगह का नाम बिहार है। वैसे तो आज भले ही बिहार की साक्षरता अन्य राज्यों से काम हो पर बिहार का इतिहास ऐसा बिलकुल भी नहीं था यहाँ तक की बिहार तो एक ऐसा स्थल था जहाँ भारत की सब से पुरानि नालन्दा विश्वविद्यालय है।बिहार का इतिहास की important जानकारी History of Bihar in Hindi

इसी  जमीन पर गौतम बुद्ध ने जन्म लिया,यही पर गुरु चाणक्य,आर्यभट्ट जैसे महान विद्वानों ने अपनी विद्या और ज्ञान से पुरे भारत देश को एक सही मार्ग पर चलाया। जिस समय लोग शिक्षा अर्जन करना बहुत महत्वपूर्ण नहीं मानते थे उस समय भी बिहार  पाटलिपुत्र जो की आज बिहार की राजधानी पटना के नाम से विख्यात है ये एक शिक्षा का केंद्र था।

बिहार का इतिहास  History of Bihar in Hindi सम्राट अशोक,अजातशत्रु ,गुरु गोविन्द सिंह आदि के जन्म से भी जुड़ा है। ये तो है इतिहास की बातें पर आज भी यहाँ के बच्चे भारत की सब से बड़ी परीक्षाओं में अपना स्थान बनाते है और नौकरी पा कर ये साबित कर देते है की बिहार का इतिहास कल भी सुनहरे अक्षरों में लिखा गया था और आगे भी ऐसे ही लिखा जायेगा।

छोटा सा परिचय बिहार का A Quick  View Of  Bihar History

  • प्रथम मुख्यमंत्री श्री कृष्णा सिंह
  • वर्तमान मुख्यमंत्री नितीश कुमार
  • राजधानी -पटना
  • भाषा मैथिली ,हिंदी
  • जनसँख्या यहाँ की population लगभग 99. 02 मिलियन है।
  • राज्यपशु बैल
  • स्थापना दिवस -26 जनवरी 1950
  • प्रथम राज्यपाल सत्यपाल मालिक
  • राज्यपक्षी गौरैया
  • राज्यफूल गेंदा
  • राज्यवृक्ष पीपल
  • राज्यादिवस 1 मई,1960
  • क्षेत्रफल :94,163 वर्ग किलो मीटर
  • कुल जिले 39
  • सब से बड़ा शहर-पटना  

History of Bihar in Hindi  बिहार का इतिहास हिंदी में

 सब जानते है बिहार के लोग अपनी बुद्धि का लोहा पुरे विश्व में मनवा चुके है पर भी यहाँ कुछ पिछड़े इलाके भी है जो अब धीरेधीरे विकसित हो रहे है। यहाँ के इतिहास का विवरण तो आदि कल से भी पूरे भारत में प्रसिद्द है। आइये देखते है किस काल में बिहार का क्या इतिहास रहा। 

आदि काल Pre History Era Of Bihar :बिहार का इतिहास आदि काल जितना पुराना है ऐसा माना गया है की कई पुराने ग्रंथो में बिहार के कई राज्यों का विवरण मिलता है जिसमे मिथिला,पाटलिपुत्र,मगध आदि शामिल है। सब से पहले बात करते है भगवान श्री राम के काल की। ऐसा माना जाता है की माता सीता जो श्री राम की पत्नी थी उनका जन्म  मिथला नरेश राजा जनक के यहाँ हुआ था।

उसके बाद 563 B.C में जब गौतम बुद्ध का जन्म भी नहीं हुआ था बिहार एक गणतंत्र राज्य था। इस काल में 1000 वर्षो तक बिहार इतना समृध्द था की  पूरे भारत में संस्कृति,शिक्षा के एकमात्र केंद्र था। यहाँ पर अजात शत्रु था बिंबसार ऐसे राजा थे जिन्होंने राजगीर से पुरे मगध पर शासन किया। 

और पाटलिपुत्र जो की आज भी बिहार की राजधानी है इसकी स्थापना की। बाद में मगध इतना शक्तिशाली राज्य बन गया की नंद वंश ने मगध से ले कर पंजाब और बिहार तक अपना साम्राज्य फैला दिया। 

बाद में ये साम्राज्य मौर्या वंश के हाथ में चला गया जिन्होंने भी मगध को ही अपने  शासन का केंद्र बनाये रखा।  यही सम्राट अशोक महान का जन्म भी हुआ जिनकी वीरता के लिए उन्हें पूरा विश्व जनता है। 

मध्य काल History of Bihar in Medieval Period

Bihar का इतिहास् in Hindi

ये काल बिहार के अच्छा नहीं था इस काल की 12वि सदी में जाने कितने बौद्ध भिक्षुको का नरसंहार  मुग़ल शासको के आदेश पर किया गया। इस समय बौद्ध धर्म जड़ से ही उखड गया।  यहाँ तक की कुतपुतदीन ऐबक के कई मन्त्रितो ने यहाँ के विश्वविद्यालों को भी नष्ट कर दिया। पर जब महान शासक शेर शाह सूरी  पर राज्य स्थापित किया उन्होंने फिर से पटना को एक नया जीवन देने के लिए अपना मुख्यालय यही पर बनाया।  जब मुग़ल साम्राज्य के सब से महान शासक अकबर ने सिंघासन संभाला बिहार को  मुख्य सुबो में रखा।

मुगलो की शक्ति यहाँ शीर्ण होने के बाद यहाँ पर बंगाल के नवाब ने शासन किया जिन्होंने यहाँ की जनता से बहुत कर वसूला ये समय बिहार के लिए अच्छा नहीं रहा। 

ब्रिटिश साम्राज्य  History of Bihar in British  Period 

बक्सर की लड़ाई के बाद मुगलो और बंगाल के नवाबो ने फिर से एक राज्य का  गठन किया जो की पटना 115 किलो मीटर दूर था जिसका नाम बांग्लादेश रखा गया। उसके बाद ओडिसा,बंगाल,बिहार,झारखंड पर ईस्ट इंडिया कंपनी का अधिकार हो गया। कोलकत्ता के पहले पड़ने वाला शहर पटना इस समय  व्यापारिक केंद्र बन गया था।  1 9 12 तक  बंगाल प्रेसीडेंसी ब्रिटिश राज का हिस्सा बने, और  बिहार और उड़ीसा एक अलग प्रांत के बन गए।  फिर से पटना नए राज्य की राजधानी के रूप में उभरा।

अंग्रेजों ने पटना में कई कॉलेज बनवाये जिसमे  पटना कॉलेज, पटना विज्ञान कॉलेज, बिहार कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, प्रिंस ऑफ वेल्स मेडिकल कॉलेज और बिहार पशु चिकित्सा कॉलेज जैसे कई शैक्षणिक संस्थानों  आती है। 1 9 35 में, बिहार के कुछ हिस्सों को उड़ीसा के अलग राज्य में पुनर्गठित किया गया। पटना ब्रिटिश राज में भी बिहार राज्य की राजधानी के रूप में ही रहा।

इस समय जब 1942 में महात्मा गाँधी ने भारत छोड़ो और असहयोग आंदोलन चलाए उनमे भी ययन के लोगो ने बढ़चढ़ कर भाग लिया।

1946 में बिहार की पहली कैबिनेट गयी जिसमे श्री कृष्णा सिन्हा प्रथम मुख्य मंत्री बने और अनुग्रह नारायण सिन्हा प्रथम उप मुख्यमंत्री बने।   

बिहार  से जुड़े कुछ तथ्य Bihar  ki History Hindi me

शिक्षावैसे तो एक समय में बिहार शिक्षा का केंद्र ही था पर बिच में यहाँ की स्थिति ऐसी हो गयी थी की शिक्षा के क्षेत्र में भारी गिरावट आयी पर अब फिर से स्थिति सुधरने लगी है। यहाँ के प्राथमिक,माध्यमिक और अन्य विद्यालय भी अब धीरेधीरे सुधर रहे है। Patna University के अलावा भी यहाँ पर कई महाविद्यालय और रिसर्च   सेंटर खोले गए है। आशा है की बिहार की शिक्षा स्तर में अब और भी सुधर होगा। 

अर्थववस्था : यहाँ पर कृषि ही एकमात्र साधन है जिस से यहाँ के अधिकांश लोगो का जीवन  चलता है। अलावा यहाँ कई उद्योग केंद्र भी है जिसमे बंदूक कारखाना,सिगरेट कारखाना,रेल कारखाना,चीनी मिले आदि शामिल है। 

भाषायहाँ की मुख भाषा तो मैथली पर इसके अलावा भी अंगिका,मागिहा,हिंदी,उर्दू और भोजपुरी भी  बोली जाती है।

Bihar का इतिहास् in Hindi

संस्कृति :यह एक पुरुष प्रधान राज्य है जहाँ पर कई तरीके के त्यौहार मनाये जाते है जिसमे छट सब से महत्वपूर्ण माना जाता है। क्युकी सिक्खो के दसवे गुरु गोविन्द सिंह का जन्म यही हुआ था इसलिए यहाँ उनकी जयंती पर  भीड़ देखने को  अलावा भी अन्य धर्मो के पर्व यहाँ मनाये जाते है। यहाँ के लोग मुख्यत फ़िल्मी और भोजपुरी गानो को पसंद करते है। 

रूढ़िवादी परम्परा होने के कारण आज भी यहाँ पर विवाह मातापिता और रिश्तेदारों के द्वारा ही तय किये जाते है। लोक गीतों के अलावा यहाँ विवाह पर शहनाई का बजना एक आम बात है इसका एक मुख्य कारण ये है की बिस्मिलाह खान यही के थे।   

मित्रो बिहार का  इतिहास History of Bihar इतना वृहद् है की इसके बारे में सारी बातें लिख पाना संभव नहीं है इसलिए इसका एक संछिप्त विवरण यहाँ दिया गया है ये आप को कैसा लगा कमेंट बॉक्स में लिख अपनी राय जरूर दे।

Read more:- हरियाणा का इतिहास के बारे में पूरी जानकारी History of Haryana in Hindi

टैग्स:- बिहार का प्राचीन इतिहास, बिहार राज्य की स्थापना, बिहार की जानकारी, बिहार का विभाजन, बिहार दिवस इतिहास, बिहार का पुराना नाम क्या है, बिहार का राजनीतिक इतिहास, बिहार का पहनावा, The ancient history of Bihar, the establishment of the state of Bihar, the information of Bihar, the division of Bihar, Bihar day history, what is the old name of Bihar, the political history of Bihar, the dress of Bihar

नमस्कार,आप सभी के सहयोग से हमारा यह blog, हिन्दी भाषा Me History Se सम्बंधित जानकारी उपलब्ध करवाने वाला एक popular website बनते जा रहा है. इसी तरह अपना सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. :)

10 COMMENTS

  1. इसमें बिहार के ke bare me sahi बताया गया हैं। thank you

  2. Thanks for you and your articl.
    Bihar bauth jaldi ek stroung State banen Bala hai Kay yah ho Shakti hai

    ,……………?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here