हरियाणा का इतिहास History of Haryana in Hindi – भारत का दूसरा सब से धनि राज्य और सिंधु घाटी सभ्यता का प्रमुख केंद्र हरियाणा की नाम उत्पति भी बहुत पुराने समय से जुडी हुई है। हरियाणा शब्द का दो शब्दों से मिलकर बना है हरि +अयण जिसका अर्थ है जो स्थान जहाँ पर भगवान रहते हो। हरियाणा में प्रति व्यक्ति आय,19 ,158 है। यहाँ की राजधानी चंडीगढ़ है।

हरियाणा देश के राजधानी दिल्ली से पास है जिस वजह  यहाँ का दक्षिण भाग विकास की दृष्टि से दिल्ली के क्षेत्र में शमिल है। यहाँ कई ऐतिहासिक युद्द भी हुए जैसे पानीपत का युद्ध तीन बार यही हुआ। भगवान श्री कृष्णा ने भी यही पर गीता का उपदेश दिया था। मनु स्मृति में वेवस्य मनु कहे जाने वाले राजा जिन से ये मनुष्य पैदा हुए,ऐसा माना जाता है की वो यही के राजा थे।हरियाणा का इतिहास के बारे में पूरी जानकारी History of Haryana in Hindi

हरियाणा दक्षिण एशिया का सब से विकसित राज्य है जिसमे सब से ज्यादा ग्रामीण करोड़पति शामिल है। यहाँ दूध इतना होता है की भारत में ज्यादातर जगहों पर हरियाणा से द्वारा ही दूध की आपूर्ति की जाती है। कृषि के हिसाब से भी ये क्षेत्र बहुत आगे है। हम देखते है की  जिन राज्यों में मुख्यतः कृषि पर ही अर्थव्यवस्था टिकी होती है वो प्रदेश बहुत विकसित नहीं है पर हरियाणा और पंजाब ऐसे राज्य है जिन्होंने कृषि से ही अपने राज्य का विकास किया है। 

छोटा सा परिचय हरियाणा का A Quick View Of Haryana History

  • प्रथम मुख्यमंत्री पंडित भागवत दयाल शर्मा
  • वर्तमान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर
  • प्रथम राज्यपाल धर्म वीरा
  • राजधानी -चंडीगढ़
  • भाषा हिंदी,हरियाणवी
  • जनसँख्या लगभग 25. 35मिलियन है।
  • राज्यपशु ब्लैक बक
  • स्थापना दिवस – 1 नवंबर 1966
  • राज्यपक्षी काला तीतर
  • राज्यफूल कमल
  • राज्यवृक्ष पीपल
  • राज्यादिवस 1 नवंबर 1966
  • क्षेत्रफल 44,212 वर्ग किलो मीटर
  • कुल जिले 22
  • राजकीय खेल कुश्ती
  • सब से बड़ा शहर-फरीदाबाद

History of Haryana in Hindi हरियाणा का इतिहास हिंदी में 

वैदिक काल :History of Haryana in Vedic Period

वैदिक काल की शुरुआत से ही हरियाणा का इतिहास जुड़ा हुआ है। हरियाणा को ब्रह्मवर्त भी कहा जाता था और कई वेदो में इसका उल्लेखन भी देखने को मिलता है। अनेक ब्रह्मऋषियों ने यही से ज्ञान का प्रचारप्रसार किया। यहाँ से भारत के भारतवंशी आर्य जिनके नाम पर भारत का नाम पड़ा है उन्होंने अपने राज्य को यहीं पर सब से पहले स्थापित किया और बाद में पूरे भारत पर राज्य किया।

इसके अलावा ये भी माना जाता है की कुरुओ ने  यही से कृषि आरम्भ की इसलिए ही इस क्षेत्र को कुरुक्षेत्र भी कहा जाने लगा। ये तो सब को ज्ञात है की युगोयुगो तक याद रहने वाला कौरवो और पांडवो के बिच का युद्ध भी यही पर हुआ तथा गीता का उपदेश जो हर काल में हर समय लोगो का मार्गदर्शन करता रहा है वो उपदेश भी यही पर श्री कृष्णा ने दिया। 

यहाँ के गुरुग्राम का नाम भी गुरु द्रोणाचार्य के नाम पर पड़ा है। ऐसी कथाये प्रसिद्द है की जो कोई भी यहाँ बसना चाहता था  के एक लाख नागरिक एक रुपया और एक ईट देते थे जिस से वो व्यक्ति व्यापर भी कर लेता था और यहाँ बस भी जाता था। मौर्या कल हो या गुप्त कल सब का इतिहास यहाँ से जुड़ा हुआ है। 

मध्य काल History of Haryana in Medieval Period

मौर्या वंश और गुप्त वंश के बाद जब हुणो का साम्राज्य था तब उनको हराकर हर्षवर्धन ने अपना राज्य स्थापित किया और कुरुक्षेत्र के पास ही अपनी राजधानी बनायीं जिसे थानेसर कहा जाने लगा। उसके बाद प्रतिहारो ने राज्य किया और कन्नौज को अपनी राजधानी बना लिया। पृथ्वीराज चौहान के बाद जब मुग़ल शासको ने अपना साम्राज्य स्थापित किया तो देखो को ही अपनी राजधानी बनाया जो की हरियाणा के तीन भागो से घिरी हुई है। Haryana ki puri jankari hindi me

पानीपत की लड़ाई भी यही लड़ी गयी जो की अहमद शाह और मराठा शासक सदा शिव राव के बिच हुई जिसमे अहमद अली शाह की जीत हुई। 

ब्रिटिश साम्राज्य  History of Haryana in British Period

जब स्वतंत्रता संग्राम की नीव राखी गयी उस समय यहाँ के ज्यादातर शहर जिसमे सिरसा,हिसार,रोहतक,थानेसर,जालंधर,अम्बाला,रेवाड़ी आदि मुख्य केंद्र बने।  यहाँ के जाट शासक राजा नहर सिंह और रेवाड़ी के राजा राव तुलाराम ने अंग्रेज़ो के खिलाफ आवाज़ उठाई तो उनके राज्य छीन लिए गए  फिर ये राज्य या तो ब्रिटिश साम्राज्य में मिला लिये गये या नाभा, जीद पटियाला के राजाओ को दे दिये गये।

आज़ादी के बाद हरियाणा का नया स्वरुप History of Haryana in Hindi

1966 में हरियाणा  वाले जिले थे उनके उनके आधार पर हरियाणा  पुर्नगठन हुआ जिसके परिणाम स्वरुप हिमाचल प्रदेश का अस्तित्व सामने आया। फिर हरियाणा का जो वर्तमान  22 जिलों  हरियाणा राज्य  हुई।

हरियाणा  से जुड़े कुछ तथ्य Haryana  ki History Hindi me

शिक्षायहाँ की शिक्षा दर भारत के अन्य राज्यों के हिसाब से थोड़ी काम है। यहाँ 75.55 % है और अगर लिंग अनुपात की बात करे तो यहाँ पर प्रति 1000 पुरुषो और 879 महिलाओं  देखने को मिलता है जो बहुत कम है।  राज्य एक  प्रधान राज्य  है इसलिए यहाँ  साक्षरता भी पुरुषो मुताबिक महिलाओं में कम है।

वैसे तो सरकार यहाँ की स्थिति देखते हुए लड़कियों को पढ़ने के लिए कई सुविधाएं दे रही है और लोगो की भी मानसिकता अब धीरेधीरे बदल रही है इस सब को देखते हुए लगता है हरियाणा में भी एक सही लिंग अनुपात के साथ ही सही साक्षरता दर भी देखने को मिलेगी।  Haryana ki puri jankari hindi me

अर्थववस्था : यहाँ पर कृषि और दुग्ध व्यवसाय यहाँ की जीविका का साधन है। यहाँ की मिट्टी बहुत उपजाऊ है जिस कारण यहाँ अच्छी फैंसले होती है। यहाँ के लोग इन्ही दोनों व्यवसायो के कारण भारत के सब से धनि कहे जाने वाले किसान है। 

भाषायहाँ की मुख्य भाषा हरियाणवी है इसके अल्वा क्युकी ये राज्य दिल्ली से जुड़ा हुआ है इसलिए यहाँ हिंदी भाषा का भी प्रयोग होता है।

हरियाणा का इतिहास के बारे में पूरी जानकारी History of Haryana in Hindi

संस्कृति :हाँ पर कई तरीके के त्यौहार मनाये जाते है जिसमे होली,दिवाली आदि प्रमुख है। यहाँ के लोग नृत्य,गायन आदि के शौखिन है साथ ही साथ उत्तम भोजन प्रेमी भी है। हिसार  कुरुक्षेत्र में लोग देश भर से स्नान करने आते  है। हरियाणा  प्राचीन तीर्थस्थल भी है जो अनेक मान्यताओं  प्रसिद्द है।

पर स्थित सरस्वती नदी का भी अलग महत्व है लोग यहाँ पर अपने पूर्वजो का पिंड दान करने आते है। यहाँ की पुरानी हवेलियों में यहाँ की कला का उत्तम नमूना देखने को मिलता है। पेहोवा में अनेक धार्मिक क्रियाये की जाती है जिस से दिल हुए दिमाग को शांति मिलती है। हरियाणा के मेले भी इसकी संस्कृति के अभिन्न अंग है। यहाँ अच्छे दुधारू गाय,भैसे भी  मिलती है।

Read More:- हिमाचल प्रदेश का इतिहास History of Himachal Pradesh in hindi

Tags:- हरियाणा का इतिहास क्या है, हरियाणा का पुराना नाम, हरियाणा की संस्कृति, हरियाणा का खान पान, हरियाणा पर निबंध, हरियाणा दिवस, मेरा हरियाणा निबंध, हरियाणा का भोजन, What is the history of Haryana, the old name of Haryana, Haryana’s culture, Haryana’s Khan Pan, Essay on Haryana, Haryana Day, My Haryana Essay, Haryana Food

नमस्कार,आप सभी के सहयोग से हमारा यह blog, हिन्दी भाषा Me History Se सम्बंधित जानकारी उपलब्ध करवाने वाला एक popular website बनते जा रहा है. इसी तरह अपना सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. :)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here