Maharashtra History hindi : महाराष्ट्र का इतिहास History of Maharashtra” दक्षिण मध्य में स्थित ये राज्य जिसे महाराष्ट्र कहते है ये राज्य  धनि राज्यों में से एक है। जिसकी राजधानी मुंबई है जो देश की आर्थिक राजधानी है।  महाराष्ट्र के बड़े  में पुणे भी शामिल है जो मुंबई का ही नहीं बल्कि पूरे भारत में सब से बड़े शहर में इसका छंटवा स्थान है।

यहाँ पर मराठी बोली जाती है और दुनियाँ में सिर्फ 11 देश ही ऐसे है जो महाराष्ट्र से जनसँख्या में ज्यादा है। इस बात से आप को अन्द्दाज तो हो  होगा की इसका नाम महाराष्ट क्यों है। इस राज्य का गठन 1 May 1960 को हुआ था। महाराष्ट्र का इतिहास Maharashtra History बहुत पूराना और समृद्ध है। आइये हम एक नज़र डालते है महाराष्ट्र के इतिहास पर Maharashtra की एतिहासमहाराष्ट्र के इतिहास के बारे में जानकारी | Maharashtra History in hindi

महाराष्ट्र इतिहास, महाराष्ट्र की विशेषता, महाराष्ट्र की संस्कृति, महाराष्ट्र का रहन सहन, महाराष्ट्र गंतव्य, महाराष्ट्र चा इतिहास, महाराष्ट्र राज्य, महाराष्ट्राचा इतिहास १८५७ ते १९९०, Maharashtra History, specialty of Maharashtra, Culture of Maharashtra, Life of Maharashtra, Maharashtra Destination, History of Maharashtra, Maharashtra State, History of 1857 to 1990

Read More:- मध्य प्रदेश इतिहास– Madhya Pradesh History –History MadhyaPradesh hindi

छोटा सा परिचय महाराष्ट्र का A QUICK VIEW OF Maharashtra History

प्रथम मुख्यमंत्री- यशवंत राव चवनउपराजधानी नागपुर जनसँख्या यहाँ की population लगभग 114.2 मिलियन है।
वर्तमान मुख्यमंत्री- श्री देवेंद्र फर्नाडिसराज्यपशु भारतीय विशाल गिलहरी है
राजधानी मुंबई राज्यपक्षी हरियाल
भाषा मराठीराज्यफल तामन                       
स्थापना दिवस -1 मई 1960राज्यवृक्ष आम
कुल जिले 36सब से बड़ा जिलामुंबई
राज्य फूलमोठाराज्यादिवस  मई
क्षेत्रफल 307,713 वर्ग किलो मीटर


महाराष्ट्र का इतिहास बहुत पुराना है। यहाँ एक समय में कृषि हुआ करती थी पर मौसम में कुछ बदलाव हुए जिस से यहाँ पर कृषि रुक गयी। चाहे बात करे Mauryan period की या मुग़ल काल की हर युग का इतिहास महाराष्ट्र से जुड़ा हुआ है। आइये बात करते है महाराष्ट्र के इतिहास के बारे में महाराष्ट्र
की पूरी जानकारी हिंदी में History of Maharashtra in Hindi

पाषाण काल में महाराष्ट्र का इतिहास History of Maharashtra in Hindi

पाषाण काल से ही महाराष्ट्र का अपने एक अलग इतिहास रहा है यहाँ के  मुंबई शहर जो की एक समुद्र तट पर बसा हुआ है यहाँ पाषाण काल के कुछ अवशेष मिले जिस से ये साबित हो गया की यहाँ पाषाण काल में भी एक सभ्यता थी। 

मौर्या कल में मुंबई का इतिहास– महाराष्ट्र की पूरी जानकारी हिंदी में Maharashtra History in Hindi

जी हाँ दोस्तों सिर्फ पाषाण काल में ही नहीं बल्कि मौर्या काल से भी महाराष्ट्र का इतिहास जुड़ा हुआ है। मुंबई के ही आस पास सम्राट अशोक का एक शिलालेख पाया जाता है यहाँ मौर्यो का पतन होने के बाद २३० में यादवो का उथान हुआ।समय में ही विश्व प्रसिद्द अजंता की गुफाये इसी योग में बनी। 

मुग़ल काल में महाराष्ट्र का इतिहासHistory of Maharashtra in Hindi

अलाउद्दीन खिलजी के शासन से महाराष्ट्र का इतिहास जुड़ा हुआ है क्युकी ये शासक वो पहला मुग़ल शासक था जिसने दक्षिण से मदुरे तक अपना राज्य फैलाया था जिसके बाद शासक मुहम्मद बिन तुगलग ने दिल्ली से अपनी राजधानी हटा कर दौलताबाद बना दी ये जिला महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले के पास स्थित है।

औरंगजेब जो की एक निर्दयी मुग़ल शासक था उसने भी यहाँ पर शासन किया पर मराठो ने इस शासन के सामने आवाज़ उठायी और मुगलो को परास्त कर दिया।छत्रपति शिवा का यहाँ के सब  शक्तिशाली शासक थे जिन्होंने मुगलो के के खिलाफ बहुत छोटी सी सेना लेकर युद्ध लड़े और उन्हें धूल चटा दी थी।  इसके बाद मराठो की शक्ति बहुत बढ़ गयी जो की सिर्फ महाराष्ट्र तक समिट कर नहीं रही बल्कि दक्षिण तक भी फ़ैल गयी। Maharashtra History

महाराष्ट्र के साउ जी  के प्राथन पुणे के बाजीराव पेशवा एक ऐसे महान योद्धा तथा शासक थे जिन्होंने 40 युद्ध लगातार बिना हर का सामना किये जीते थे ये मराठो के उत्थान का सब से बड़ा कारण बना। 1820 आतेआते पेशवा अंग्रेजो से हार गए और महाराष्ट्र पर भी अंग्रेजी शासन हो गया। 

ब्रिटिश काल में महाराष्ट्र का इतिहास Maharashtra History Hindi में

वर्तमान में महाराष्ट्र के कुछ बड़े क्षेत्र नागपुर,सातारा,कोल्हापुर पर अंग्रेजी शासन था जो की धीरेधीरे पूरे महाराष्ट्र में फैलने लगा,महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई को अंग्रेज़ो ने एक महत्वपूर्ण इकाई बनाया क्युकी यहाँ पर कई बंदरगाह थे जिस से लोगो का आवागमन और व्यापर बड़ी आसानी से होता था।

1857 में क्रांति की चिंगारी जलाने वाले नानासाहेब महाराष्ट्र के ही थे इनके द्वारा जलाई हुई आग पुरे महाराष्ट्र में धीरेधीरे फैली और कई लोगो ने इस संग्राम में हिस्सा लिया जिसमे विनायक दामोदर सावरकर जैसे चरमपंथियों और जस्टिस महादेव गोविंद रानडे, गोपाल कृष्ण गोखराज्य अपने संस्कृति ले, फिरोजशाह मेहता और दादाभाई नौरोजी,डॉ॰ गोपालराव खेडकर की एहम भूमिका रही।  

आज़ादी के बाद महाराष्ट्र का इतिहास History of Maharashtra in Hindi

आज़ादी के बाद महाराष्ट्र को एक राज्य बनाने की मांग होने लगी जिसमे कई महत्वपूर्ण जिले शामिल थे पर उसे सर्कार द्वारा स्वीकृति नहीं मिल रही थी। काफी विरोध होने के बाद 1960 में महाराष्ट्र राज्य का गठन हुआ जिसमे वो सारे जिले है जो की वर्तमान महाराष्ट्र के हिस्से है। 

महाराष्ट की पूरी जानकारी संक्षिप्त में Maharashtra History in hindi

महाराष्ट का इतिहास History of Maharashtra जितना पुराना है उतनी ही नवीनतम यहाँ की हर सुख सुविधाएं है। यही की अर्थव्यवस्था की बात करे या संस्कृतियों की यातायात की सुविधाएं देखे या साक्षरता। सब कुछ यहाँ बहुत अच्छा है। आइये दोस्तों एक नज़र डालते है इन सब चीज़ो पर। 

Maharashtra History संस्कृति 

  •  यह  राज्य अपनी संस्कृति के लिए भारत में एक अलग ही स्थान रखता है,यहाँ गायन,नित्य,लेखन,खानपान सब प्रसिद्ध है। यहाँ के लेखकों ने पूरे भारत में ही नहीं बल्कि विश्व में  कमाया है। 
  • यहाँ की संस्कृति को सजोये अनेको स्मारक खड़े है जिसमे कुछ महत्वपूर्ण इमारते ब्रिटिश समय के और कुछ उसके बाद के है। कुछ अति प्राचीन स्मारक भी संस्कृति और सभ्यता की झलक प्रस्तुत करते है। जिसमे महाबलेश्वर,नासिक ,शिंगणापुर,श्रीडी आदि कई ऐसे दार्शनिक स्थल है।
  •  Bharuds,Gondhals यहाँ के प्रमुख folk dance है। यहाँ की मायानगरी मुंबई तो फिल्म जगत के लिए ही जानी जाती है। 
  • यही नहीं यहाँ 200 newspaper और 300 से ज्यादा मैगजीन के ऑफिस है। यहाँ कई बुक पब्लिशिंग आर्गेनाईजेशन भी है। यही नहीं महाराष्ट्र में national television के कई चैनल्स के head office भी है। अर्थववस्था 
  • भारत का सब से महंगा और धनि राज्य महाराष्ट्र भारत की अर्थववस्था में एक बड़ा सहयोग देता है। मुंबई में प्रमुख बैंकों के बीमा कंपनियों के वाणिज्य संस्थानों और कई म्यूचअल फंडों के मुख्यालय है। 
  • भारत की G.D.P.में अकेले महाराष्ट्र ही 14 .4 % का सहयोग करता है। 
  • यहाँ की per-capita income भारत के अन्य राज्यों के मुताबिक  40% ज्यादा है।

 यातायात Maharashtra ki

  • यहाँ यातायात के भी कई साधन है जिसमे कई इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स तो कई डोमेस्टिक ऐरपोटस शामिल है जिसमे सरकारी और प्राइवेट हवाई जहाज़ उड़ान भरते है।  यहाँ 49 बंदरगाह भी है जो की यहाँ के ट्रांसपोर्ट को और भी ज्यादा बढ़ावा देते है। 

जनसांख्यिकी Maharashtra History

  • यहाँ जनसँख्या लगभग 114.2 मिलियन है। जिसमे लोग बहुत शिक्षित है। क्षेत्रफल की दृष्टि से बड़ा होने के कारण यहाँ अन्य राज्यों की अपेक्षा जनसख्या बहुत ज्यादा है। 

हमारा ये आर्टिकल आप को कैसा लगा दोस्तों कमेंट बॉक्स में जरूर लिखियेगा।

नमस्कार,आप सभी के सहयोग से हमारा यह blog, हिन्दी भाषा Me History Se सम्बंधित जानकारी उपलब्ध करवाने वाला एक popular website बनते जा रहा है. इसी तरह अपना सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. :)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here