Virat Kohli biography : भारतीय क्रिकेट टीम मैं सचिन तेंदुलकर और महेंद्र सिंह धोनी के बाद जिस खिलाड़ी का नाम सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में आता है तो वह है विराट कोहली। विराटकोहली का जन्म 5 नवंबर 1988 को दिल्ली में एक पंजाबी परिवार में हुआ।

विराट कोहली के पिता प्रेम कोहली पेशे से एक अपराधिक वकील थे और उनकी माता ग्रहणी Housewife। विराट बचपन से ही Cricket के शौकीन रहे और उनके परिवार के अनुसार उनका यह कहना है कि जब विराट 3 साल के थे तब से उन्होंने बैठ को अपने हाथ में ले लिया था और अपने पापा को बोल फेंकने को कहा था।विराट कोहली की जीवनी के बारे में जानकारी- Virat Kohli biography in hindi

Virat Kohli की जाति क्या है, विराट कोहली ची माहिती मराठी, माझा आवडता खेळाडू विराट कोहली निबंध, प्रेम कोहली, कोहली जाति का इतिहास, विराट कोहली के बारे मे, विराट कोहली का जीवन परिचय, विराट कोहली किस जाति के है.

Read More:-  क्रिकेट के सम्राट Kapil Dev की Biography और Life History In Hindi

Virat Kohli कोहली की जीवनी के बारे में जानकारी

नाम – विराट प्रेम कोहलीमाता – अंजनी कोहली
जन्म – 5 नवंबर,1988भाई और बहन– विकास , भावना
पिता – प्रेम कोहली

 

विराट कोहली दिल्ली के उत्तम नगर की गलियों में अपना बचपन बिताया और वैशाली पब्लिक स्कूल से अपनी शिक्षा पूर्ण की। सन 1998 में Northern Cricket Academy का उद्घाटन हुआ और तभी Virat Kohli ने मात्र 9 साल की आयु में उस में अपना दाखिला करवा लिया। वैसे विराट कोहली को इस Northern Cricket Academy में उनके पिता ने तब दाखिला करवाया जब उनके ही पड़ोस में किसी पड़ोसी ने यह कहा था की-

Virat Kohli biography in hindi

“विराट कोहली गली क्रिकेट में समय व्यर्थ नहीं करना चाहिए बल्कि उसे किसी व्यवसायिक रूप से किसी अकादमी में क्रिकेट के पहलुओं को अच्छे तरीके से सीखना चाहिए”

Virat Kohli एक International Crickter हैं और भी दाएं हाथ से बल्लेबाजी करते हैं और कभी-कभी वह दाएं हाथ से गेंदबाजी में भी अच्छा प्रदर्शन क्रिकेट के मैदान में बखूबी निभाते हैं। वर्तमान में विराट भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के कप्तान हैं और वनडे क्रिकेट टीम के उपकप्तान है।

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL)की टीम रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु (RCB) के कप्तान हैं। भारतीय क्रिकेट टीम ने विराट कोहली की कप्तानी में कई बड़े मैच जीते हैं और महेंद्र सिंह धोनी के बाद अच्छी कप्तानी का श्रेय केवल विराट कोहली को ही जाता है।

Read More:-  मास्टर ब्लास्टर Sachin Tendulkar Biography के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में

Virat Kohli Under-19 क्रिकेट टीम के भी कप्तान रह चुके हैं जिन्होंने वर्ष 2008 में Malaysia के खिलाफ जीत हासिल करके एक शानदार इतिहास रचा था। उसके बाद विराट ने Under-19 टीम में श्रीलंका के विरुद्ध अपने Carrier की पहली शुरुआत की।

विराट कोहली को कई पुरस्कारों द्वारा नवाजा गया जिनकी सूची यहां नीचे जारी की गई -Virat Kohli Achieve Awards.

  • # 2012 में ICC ODI प्लेयर ऑफ़ द इयर और BCCI द्वारा 2011-12 का सर्वश्रेष्ट अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर।
  • # 2013 में, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपने अतुल्य योगदान के लिए उन्हें अर्जुन पुरस्कार दिया गया।
  • # स्पोर्ट प्रो, एक UK मैगज़ीन, ने कोहली को 2014 में दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा मार्केटेबल व्यक्ति बताया।
  • # कोहली ISL की टीम FC गोवा और IPTL फ्रेंचाईसी UAE रॉयल्स के सह-मालक भी है।
  • # 2011 में विश्वकप जितने वाली भारतीय टीम में से एक Virat Kohli थे। कोहली ने 2011 में वेस्ट इंडीज़ के खिलाफ किंग्स्टन में अपना पहला टेस्ट मैच खेला।
  • # 2013 से ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका में अपने शतको के कारण उन्हें “वन-डे स्पेशलिस्ट” के नाम से जाना जाता है।
  • # इसी साल वे ICC की वन-डे रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर भी पहोचे। उस सम चीजों अपने करियर में वे पहली कार वन-डे बैट्समैन की लिस्ट में पहले स्थान पर पहोचे थे। बाद में उन्हें 20-20 प्रारूप में भी सफलता मिली, वे ICC की सर्वश्रेष्ट 20-20 बैट्समैन की सुची में भी शीर्ष पर रहे।
  • # कोहली को 2012 में भारतीय वन-डे टीम के उप-कप्तान के रूप में नियुक्त किया गया, और बहोत से समय भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की अनुपस्थिति में भी वे टीम की बागडोर सँभालते है।

धोनी के 2014 में टेस्ट से सन्यास लेने के बाद से ही कोहली को टेस्ट टीम की कप्तानी सौपी गयी। कोहली ने अपने नाम कई रिकार्ड्स किये जिसमे सबसे तेज़ वन-डे शतक, वन-डे क्रिकेट में सबसे तेज़ 5000 रन और सबसे तेज़ 10 One – Day शतक बनाना भी शामिल है। वे विश्व में अकेले ऐसे बल्लेबाज़ है जिन्होंने लगातार 4 सालो तक One – Day क्रिकेट में 1000 या उस से भी ज्यादा रन बनाये है। 2015 में, वे 20-20 में 1000 रन बनाने वाले दुनिया के सबसे तेज़ बल्लेबाज़ बन गये।

विराट कोहली का जीवन परिचय – Virat Kohli

विराट कोहली को सबसे ज्यादा दुःख तब हुआ जब उनके पिता की Brain Stroke की वजह से 18 दिसम्बर 2006 को Death हो गयी। कोहली अपने बीते दिनों को याद करते हुए भावुक होकर बताते हैं कि

“ मैंने जीवन में बहुत कछ झेला है। मैं युवा दिनों में ही अपने पिता को खो दिया, जिससे पारिवारिक आर्थिक स्थिति भी डगमगा गयी थी, इस कारण मुझे किराये के रूम में भी रहना पड़ा यह समय मेरे और मेरे परिवार के लिए बहुत मुश्किल भरा था”।

Virat Kohli की आंखें आज भी उन दिनों को याद करके नम हो जाती हैं। उनके अनुसार, बचपन से ही क्रिकेट प्रशिक्षण में उनके पिता ने उनकी सहायता की थी। विराट कोहली बताते हैं कि उनके लिए जो कुछ उनके पापा ने किया है वह लफ्जों में बयान नहीं कर सकते हैं।

Read More:-  M.s Dhoni की पूरी जानकारी। Mahendra Singh Dhoni Biography in hindi

Virat Kohli अपने पापा के हमेशा से ही काफी करीब रहे है और वह आज भी मानते हैं कि उनके पापा हर समय उनके साथ हैं। चाहे वह क्रिकेट के मैदान में हो या फिर जिंदगी के मैदान में। कोहली ने पिता की याद में भावुक होकर कुछ शब्द कहे थे जो कि इस प्रकार है कि-

“मेरे पिता ही मेरे लिए सबसे बड़ा सहारा थे।” वही थे जो मेरे साथ रोज़ खेलते थे। आज भी मुझे उनकी कमी महशूस होती है।”

Read More:-  सौरव गांगुली जीवनी की पूरी जानकारी- Sourav Ganguly Biography In hindi

साल 2011 में भारत द्वारा वर्ल्ड कप को जीतने में Virat Kohli भी की भागीदारी भी शामिल रहे और वह गर्व महसूस करते हैं कि उन्होंने भारत के लिए वर्ल्ड कप जैसी चुनौती को विजेता बन कर भारत को एक विश्व में नई पहचान दिलाई।

नमस्कार,आप सभी के सहयोग से हमारा यह blog, हिन्दी भाषा Me History Se सम्बंधित जानकारी उपलब्ध करवाने वाला एक popular website बनते जा रहा है. इसी तरह अपना सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे. :)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here